शगुन-अपशगुन की ये बातें आप भी जरूर मानते होंगे ..

घर में छोटी से छोटी वस्तु का भी अपना ही स्थान होता है, कभी-कभी बेकार समझी जाने वाली वस्तु भी घर में अपना महत्व सिद्ध कर देती है। आपको जानकर हैरानी होगी कि गृहस्थी में रोजाना काम में आने वाली चीजों से भी शकुन-अपशकुन जुड़े होते हैं, जो जीवन में कई महत्वपूर्ण मोड़ लाते हैं। शकुन शुभ फल देते हैं वहीं अपशकुन इंसान को आने वाले संकटों से सावधान करते हैं। तो आइए आज हम आपको सामान्यतौर पर मिलने वाली वस्तुओं से जुड़े शकुन-अपशकुन (shagun apshagun) के बारे में बताते हैं।


  • सुबह-सुबह दूध को देखना शुभ कहा जाता है। दूध का उबलकर गिरना शुभ माना जाता है। इससे घर में सुख-शांति, संपत्ति, मान व वैभव की उन्नति होती है। दूध का बिखर जाना अपशकुन मानते हैं जो किसी दुर्घटना का संकेत है। दूध को जान-बूझ कर छलकाना अपशकुन माना जाता है जो घर में कलह का कारण है।


  • यदि आप कहीं जा रहें और बिल्ली आपके सामने कोई खाने वाली वस्तु लेकर आये और म्याऊं बोले तो- अशुभ होता है। यही क्रिया आपके घर आते समय हो तो- शुभ होता है।

  • जाते वक्त बिल्ली बायीं ओर दिखे तो शुभ होता है और दायीं ओर दिखे तो अशुभ होता है।

  • आटे का घर की गृहणी एवं रसोई से बहुत गहरा सम्बन्ध होता है। कहते हैं आटा को बहुत शुभ शकुन माना जाता है। एक धारणा के अनुसार रसोई में यदि कोई गृहणी आटा गूंथ रही हो-उसमें से थोड़ा-सा आटा उछलकर गिर जाएं तो घर में किसी मेहमान के आने का शुभ शकुन माना जाता है क्योंकि मेहमान घर में खुशियां लाता है।

  • यदि कोई नवविवाहिता अपनी शादी का जोड़ा पहन कर श्रृंगार सहित खुद को टूटे दर्पण में देखती है तो भी अपशकुन होता है
                                             Read Also : shubh ashubh sanket in hindi
  • जेब को खाली रखना अपशकुन मानते हैं। कहा जाता है कि पैसे को अपने कपड़ों की हर जेब में रखना चाहिए। कभी भी पर्स खाली नहीं रखना चाहिए।

  • झाड़ू को घर की लक्ष्मी मानते हैं क्योंकि यह दरिद्रता को घर से बाहर निकालता है। इससे भी कई शकुन व अपशकुन जुड़े हैं। दीपावली के त्यौहार पर नया झाडू घर में लाना लक्ष्मी जी के आगमन का शुभ शकुन है। नए घर में गृह प्रवेश से पूर्व नए झाडू का घर में लाना शुभ होता है। झाडू के ऊपर पांव रखना गलत समझा जाता है। यह माना जाता है कि व्यक्ति घर आई लक्ष्मी को ठुकरा रहा है।




No comments:

Post a Comment

Prem Mandir Vrindavan ,Mathura

prem mandir vrindavan वृंदावन का प्रेम मंदिर बहुत प्रसिद्ध है प्रेम मंदिर की स्थापना किपलू महाराज जी ने १४ जनवरी २००१ को लाखो श्रद्धालुओ...